14-20 सितंबर/September, 2020

‘सप्ताह का प्रादर्श’
(14 से 20 सितंबर, 2020)

राशि-चक्र, मिश्रित धातु की एक पारंपरिक मयूर प्रतिमा

कोविड-19 महामारी के प्रसार के कारण दुनिया भर के संग्रहालय बंद है लेकिन यह सभी अपने दर्शकों के साथ निरंतर रूप से जुड़े रहने के लिए विभिन्न अभिनव तरीके अपना रहे हैं। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय ने भी इस महामारी द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियो का सामना करने के लिए कई अभिनव प्रयास प्रारंभ किए है। अपने एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत मानव संग्रहालय ‘सप्ताह का प्रादर्श’ नामक एक नवीन श्रृंखला प्रस्तुत कर रहा है। पूरे भारत से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए संग्रहालय इस श्रंखला के प्रारंभ में अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। यह अति उत्कृष्ट कृतियां संग्रहालय के ‘AA’और ‘A’ वर्गों से संबंधित हैं। इन वर्गों में कुल 64 प्रादर्श हैं।

राशि-चक्र, मिश्रित धातु की एक पारंपरिक  प्रतिमा है जिसे बांकुड़ा (पश्चिम बंगाल) के डोकरा समुदाय द्वारा तैयार किया गया है। एकल सांचे में ढली एवम गोलाकार मंच पर खड़ी यह मयूर प्रतिमा अति विशिष्ट है जिसके मुंह में एक पंचमुखी सांप है। इसके पंखों को इस तरह से नियोजित किया गया है कि अलंकृत पंख के प्रत्येक आंख की पुतली विभिन्न राशियों जैसे मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ, और मीन को दर्शाती हैं । यहाँ ज्योतिष को  सौभाग्य के प्रतीक एवं मांगलिक तथा सज्जा के लिए प्रयुक्त किया गया है ।

आरोहण क्रमांक :  97.492
स्थानीय नाम: राशि-चक्र, मिश्रित धातु की एक पारंपरिक मयूर प्रतिमा
जनजाति/समुदाय : डोकरा
स्थान: बांकुड़ा, पश्चिम बंगाल
माप: ऊंचाई : 120 सेमी;  चैड़ाई: 64 सेमी;

श्रेणी :’A‘ 

OBJECT OF THE WEEK
(14th to 20th September, 2020)

RASHI CHAKRA,
Bell metal image of a peacock with Zodiac signs

Due to spread of COVID-19 pandemic the museums throughout the world are closed but identifying different innovative ways to remain connected to their visitors. Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya (National Museum of Mankind) has also taken up many new initiatives to face the challenges posed by this pandemic. In one such step it is coming up with a new series entitled ‘Object of the Week’ to showcase its collection from all over India. Initially this series will focus on the masterpieces from its collection which are considered as unique for their contribution to the cultural history of a particular ethnic group or area. These masterpieces belong to the “AA” & “A” category. There are 64 objects in these categories.

Rashi Chakra is a traditional bell metal image, crafted by the Dokra community of Bankura, west Bengal. It is a single molded image of stylized Peacock standing on a circular raised platform holding a five hooded Snake in his mouth. It has decorative wings with elaborated feather fashioned in such a manner that each eyeball of the feather depicts different signs of the zodiac symbols like Aries, Taurus, Gemini, Cancer, Leo, Virgo, Libra, Scorpio, Sagittarius, Capricorn, Aquarius and Pisces. It combines astrology as a sign of good fortune and is used for auspicious and decorative purpose.

Accession No.:   97.492
Local Name – RASHI CHAKRA, Bell metal image of a Peacock with Zodiac signs
Tribe/Community – Dokra
Locality – Bankura, West Bengal
Measurement  -Height -120 cm, Width-64 cm
Category –  ‘A’