29 जून से 5 जुलाई, 2020 तक / 29th June to 5th July, 2020

‘सप्ताह का प्रादर्श’ – ‘OBJECT OF THE WEEK
(29 जून से 5 जुलाई, 2020 तक)

कोविड-19 महामारी के प्रसार के कारण दुनिया भर के संग्रहालय बंद है लेकिन यह सभी अपने दर्शकों के साथ निरंतर रूप से जुड़े रहने के लिए विभिन्न अभिनव तरीके अपना रहे हैं। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय ने भी इस महामारी द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियो का सामना करने के लिए कई अभिनव प्रयास प्रारंभ किए है। अपने एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत मानव संग्रहालय ‘सप्ताह का प्रादर्श’ नामक एक नवीन श्रृंखला प्रस्तुत कर रहा है। पूरे भारत से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए संग्रहालय इस श्रंखला के प्रारंभ में अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। यह अति उत्कृष्ट कृतियां संग्रहालय के ‘AA’और ‘A’ वर्गों से संबंधित हैं। इन वर्गों में कुल 64 प्रादर्श हैं।

मुंडा, बस्तर, छत्तीसगढ़ में रहने वाली माड़िया जनजाति का एक स्मृति स्तंभ है। इसकी ऊंचाई लगभग 12 फीट है। यह सागौन की ठोस लकड़ी के एक ही आयताकार टुकड़े से बना है, इसमें चारो तरफ नक्काशीदार सुंदर अलंकरण है। स्तंभ के ऊपरी भाग में दो छोटी गुंबद जैसी संरचनाएं हैं। स्तंभ के एक तरफ पक्षियों और जानवरों की आकृतियां हैं तो दूसरी तरफ कृषि और आर्थिक गतिविधियों को जुताई और भार ढोने आदि दृश्यों के माध्यम से दिखाया गया है। स्तंभ के तीसरी तरफ लोगों के वैवाहिक और यौन जीवन का विवरण है, जबकि चौथे में नृत्य स्वरूपों और ढोल वादकों की प्रतिनिधि आकृतियों के साथ उत्सवों के उत्साह को दर्शाया गया है।


यह स्तंभ सामुदायिक भावनाओं की अभिव्यक्तियों का प्रतीक है। इसे 1962 में बस्तर के एक गाँव में एक राजनीतिक शख्सियत की स्मृति में बनवाया गया था। अब इस तरह के काष्ठ स्तंभों का स्थान धीरे-धीरे पत्थर या कंक्रीट की संरचनाओं ने ले लिया है।

‘सप्ताह का प्रादर्श’ – ‘OBJECT OF THE WEEK
(29th June to 5th July, 2020)

Due to spread of COVID-19 pandemic the museums throughout the world are closed but identifying different innovative ways to remain connected to their visitors. Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya (National Museum of Mankind) has also taken up many new initiatives to face the challenges posed by this pandemic. In one such step it is coming up with a new series entitled ‘Object of the Week’ to showcase its collection from all over India. Initially this series will focus on the masterpieces from its collection which are considered as unique for their contribution to the cultural history of a particular ethnic group or area. These masterpieces belong to the “AA” & “A” category. There are 64 objects in these categories.

Munda is a memorial pillar of Maria tribe living in Bastar, Chhattisgarh. Measuring about 12 feet in height it is carved out of a single rectangular log of teak wood. It is having beautiful carvings on each sides. The topmost extension of the pillar is fashioned into the two small dome-like structures with crossed finial. One side of the pillar contains the images of birds and animals, on the next side agriculture and economic activities are shown with ploughing, load carrying scenes etc. The third side of the pillar contains marital and sexual life of the people, while the fourth one depicts the joy of festivals with figures representing dance forms and drummers.
The pillar has symbolic association with expressions of ethnic sentiments. It was erected in the memory of a political figure in a village of Bastar in 1962. Now such pillars have gradually been replaced by stone or concrete structures.

A Memorial Pillar
Accn. No. 81.16
Local Name: Munda
Tribe/Community: Maria
Locality: Sukopara, Bastar, Chhattisgarh
Measurement: 365.76 cm

One Reply to “29 जून से 5 जुलाई, 2020 तक / 29th June to 5th July, 2020”

  1. इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय द्वारा कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रभाव से उत्पन्न कठिन चुनौतिपूर्ण समय में जनता को संग्रहालय से ऑनलाइन के माध्यम से जोड़ने एवं उन्हें संग्रहालय के ऐतिहासिक, प्राकृतिक और सांस्कृतिक विरासत के बारे में गहरी समझ को बढ़ावा देने के उद्देश से शरू की गई नवीन श्रृंखला ‘सप्ताह का प्रादर्श’

    this is a unique and wonderful work by IGRMS and his team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *