26 अप्रैल से 02 मई तक/26th April to 2nd May- 2021

‘सप्ताह का प्रादर्श-49’
(26 अप्रैल से 02 मई, 2021 तक)

कोविड-19 महामारी के प्रसार के कारण दुनिया भर के संग्रहालय बंद है लेकिन यह सभी अपने दर्शकों के साथ निरंतर रूप से जुड़े रहने के लिए विभिन्न अभिनव तरीके अपना रहे हैं। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय ने भी इस महामारी द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियो का सामना करने के लिए कई अभिनव प्रयास प्रारंभ किए है। अपने एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत मानव संग्रहालय ‘सप्ताह का प्रादर्श’ नामक एक नवीन श्रृंखला प्रस्तुत कर रहा है। पूरे भारत से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए संग्रहालय इस श्रंखला के प्रारंभ में अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। यह अति उत्कृष्ट कृतियां संग्रहालय के ‘AA’और ‘A’ वर्गों से संबंधित हैं। इन वर्गों में कुल 64 प्रादर्श हैं।

माड़िया, मारिया ढोल वादक की एक ढोकरा प्रतिमा

माड़िया, छत्तीसगढ़ के दंडामी मारिया समुदाय के एक ढोल वादक की ढोकरा प्रतिमा हैै। इसे पारंपरिक नृत्य परिधान में एक प्लेटफार्म पर खड़े हुए दर्शाया गया है। ढोकरा कला का यह अद्भुत प्रादर्श छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के घढ़वा समुदाय में प्रचलित लॉस्ट वैक्स कास्टिंग की एक प्राचीन तकनीक से निर्मित है।  मूलतः यह ढोल वादक एक रिबन से बंधा हुआ भैंस के सींगों का एक जोड़ा और बीच में खोंसे गए दुर्लभ पौधे का एक गुच्छा धारण करते हैं। इस तरह के शिरो-आभूषण के कारण इस जनजाति को बाइसन हॉर्न माड़िया के लोकप्रिय नाम से भी जाना जाता है जिसे वे आम तौर पर त्योहारों, विवाह और अन्य समारोहों के दौरान धारण करते हैं। वादक के चेहरे को छिपाती  कौड़ी की कई लटकनें शिरो-आभूषण से लटकाई गई हैं। एक लम्बा ढोल उसके कंधे पर लटकाया गया है। इस कलाकृति इस अर्थ में अद्वितीय है कि इसके हिस्सों को आसानी से अलग कर इसे परिवहन और पुन: जोड़े जाने के अनुकूल बनाया गया है। आकृति को आभूषणों और अलंकरण के अन्य रूपांकनों द्वारा भी सजाया गया है। पुरुष ढोल वादक के दोनो तरफ संगत देते दो छोटे ढोल वादक भी  हैं।

आरोहण क्रमांक – 78.13
स्थानीय नाम – माड़िया, मारिया ढोल वादक की एक ढोकरा प्रतिमा
समुदाय – दंडामी मारिया
स्थानीयता –बस्तर, छत्तीसगढ़
श्रेणी – ‘ए’

OBJECT OF THE WEEK-49
(26th April to 2nd May, 2021)

Due to spread of COVID-19 pandemic the museums throughout the world are closed but identifying different innovative ways to remain connected to their visitors. Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya (National Museum of Mankind) has also taken up many new initiatives to face the challenges posed by this pandemic. In one such step it is coming up with a new series entitled ‘Object of the Week’ to showcase its collection from all over India. Initially this series will focus on the masterpieces from its collection which are considered as unique for their contribution to the cultural history of a particular ethnic group or area. These masterpieces belong to the “AA” & “A” category. There are 64 objects in these categories.

MADIA, A Dhokra image of Maria Drummer 

MADIA is a bell metal image of a drummer belonging to the Dandami Maria Community of Chhattisgarh. It is shown standing on a platform in traditional dance attire.  It is a marvelous object of Dhokra art, an age old technique of lost wax casting practiced by the Ghadwa community residing in Chhattisgarh and Madhya Pradesh. Originally the dancer wear a pair of buffalo horns wrapped with ribbon strap and a bunch of rare plumes tucked in the center. This kind of head gear has given the tribe a popular name as Bison Horn Maria. They generally wear the head-gear during festivals, marriage and other ceremonies. Numerous cowrie strands hung from the head gear hiding the drummer’s face. An elongated drum is hung to his shoulder. This artifact is one of its kind as it is made in such a way that the parts of the figure can be dismantled easily making it favorable for transportation and reassemble. The figure is also decorated by the design of jewelry and adornment. Two small drummers on each side are also accompanying the male drummer.

Acc. No. – 78.13
Local Name  –  MADIA, A Dhokra image of Maria Drummer 
Tribe/Community – Dandami Maria
Locality   –  Bastar, Chhattisgarh
Category –   ‘A’

#MADIA #Dandami_Maria #Chhattisgarh #DhokraArt #Ghadwa_community #Chhattisgarh #MadhyaPradesh #BisonHornMaria #drummer #igrms #museumfromhome #objectoftheweek #ethnograhicobject #museumobject #museumofman #museumofmankind #museumofhumankind  #experienceigrms #igrmsstories #staysafe #covid19