10 से 16 मई तक/10th to 16th May- 2021

‘सप्ताह का प्रादर्श-51’
(10 से 16 मई, 2021 तक)

कोविड-19 महामारी के प्रसार के कारण दुनिया भर के संग्रहालय बंद है लेकिन यह सभी अपने दर्शकों के साथ निरंतर रूप से जुड़े रहने के लिए विभिन्न अभिनव तरीके अपना रहे हैं। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय ने भी इस महामारी द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियो का सामना करने के लिए कई अभिनव प्रयास प्रारंभ किए है। अपने एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत मानव संग्रहालय ‘सप्ताह का प्रादर्श’ नामक एक नवीन श्रृंखला प्रस्तुत कर रहा है। पूरे भारत से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए संग्रहालय इस श्रंखला के प्रारंभ में अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। यह अति उत्कृष्ट कृतियां संग्रहालय के ‘AA’और ‘A’ वर्गों से संबंधित हैं। इन वर्गों में कुल 64 प्रादर्श हैं।

नकटा, लकड़ी का मुखौटा

नकटा छत्तीसगढ़ के मुरिया समुदाय में इस्तेमाल होने वाला लकड़ी का एक मुखौटा है।  मुरिया विदूषक द्वारा हल्के वजन के इस मुखौटे को  विभिन्न अवसरों पर और विशेष रूप से छेरता त्योहार पर नृत्य प्रदर्शन के दौरान  पहना जाता है। इस त्योहार में युवकों का एक समूह गांव के हर घर में जाकर छेरता के लिए चावल और अन्य खाद्य पदार्थों की मांग करता है। समूह का एक युवक मुखौटा पहनकर और हाथ में छड़ी पकड़ कर एक मसखरे के रूप में ग्रामीणों का मनोरंजन करता है। छेरता के दौरान एकत्र किए गए अनाज सामूहिक भोज में परोसे जाते हैं। विदूषक द्वारा पहने जाने वाले नकटा मुखौटे की पहचान दाढ़ी से होती है जिसे चांदी की कान की बालियां और धातु के दांत और अधिक आकर्षक बनाते हैं।

आरोहण क्रमांक – 85.218
स्थानीय नाम – नकटा, लकड़ी का मुखौटा
समुदाय – मुरिया
स्थानीयता –नारायणपुर, छत्तीसगढ़
श्रेणी – ‘ए’

OBJECT OF THE WEEK-51
(10th to 16th May, 2021)

Due to spread of COVID-19 pandemic the museums throughout the world are closed but identifying different innovative ways to remain connected to their visitors. Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya (National Museum of Mankind) has also taken up many new initiatives to face the challenges posed by this pandemic. In one such step it is coming up with a new series entitled ‘Object of the Week’ to showcase its collection from all over India. Initially this series will focus on the masterpieces from its collection which are considered as unique for their contribution to the cultural history of a particular ethnic group or area. These masterpieces belong to the “AA” & “A” category. There are 64 objects in these categories.

NAKTA, Wooden mask

Nakta is a wooden mask used among the muria community of Chhattisgarh. It is a lightweight mask worn by Muria jester during dance performance in many occasions and especially on Chherta festival. In this festival a group of young men visit every house in the village and ask for Chherta in the form of rice and other food items. A young man from the group entertains the villagers as a jester wearing a mask and holding a stick in his hand. The grains collected during Chherta is served in a mass feast. The nakta mask worn by the jester is represented by beard along with silver ear rings and metal teeth makes it more appealing.

Acc. No. – 85.218
Local Name  –  NAKTA, Wooden mask
Tribe/Community – Muria
Locality   –  Narayanpur, Chhattisgarh
Category –   ‘A’

#nakta #woodenmask #jester #chhertafestival #danceperformance #muria #muriacommunity #bastar #chhattisgarh #igrms #museumfromhome #objectoftheweek #ethnograhicobject #museumobject #museumofman #museumofmankind #museumofhumankind  #experienceigrms #igrmsstories #staysafe #covid19