14 से 20 जून तक/14th to 20th June- 2021

‘सप्ताह का प्रादर्श-56’
(14 से 20 जून, 2021 तक)

कोविड-19 महामारी के प्रसार के कारण दुनिया भर के संग्रहालय बंद है लेकिन यह सभी अपने दर्शकों के साथ निरंतर रूप से जुड़े रहने के लिए विभिन्न अभिनव तरीके अपना रहे हैं। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय ने भी इस महामारी द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियो का सामना करने के लिए कई अभिनव प्रयास प्रारंभ किए है। अपने एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत मानव संग्रहालय ‘सप्ताह का प्रादर्श’ नामक एक नवीन श्रृंखला प्रस्तुत कर रहा है। पूरे भारत से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए संग्रहालय इस श्रंखला के प्रारंभ में अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। यह अति उत्कृष्ट कृतियां संग्रहालय के ‘AA’और ‘A’ वर्गों से संबंधित हैं। इन वर्गों में कुल 64 प्रादर्श हैं।

काटली,  धातु का बड़ा पात्र

काटली छत्तीसगढ़ के कमार जनजाति द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला धातु का एक बड़ा पात्र है। कमार पारंपरिक लौह कर्मी के रूप में जाने जाते हैं। पड़ोसी जनजातियाँ और समुदाय कृषि औजारों और अन्य घरेलू उपकरणों के लिए पूरी तरह से कमारों पर निर्भर हैं। काटली एक विशेष पात्र है जिसे कमारों द्वारा बनाया और उपयोग किया जाता है। इसका मुख्य हिस्सा गोलाकार और मुंह संकरा है। इसे बनाने के लिए मिश्र धातु की पट्टियों को हथौड़े से पीटकर गोलाकार बनाया जाता है। इस तरह के बड़े पात्र मुख्य रूप से नवाखाई त्योहार के दौरान सामुदायिक भोज में खाना पकाने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

आरोहण क्रमांक – 89.94
स्थानीय नाम – काटली,  धातु का बड़ा पात्र
समुदाय – कमार
स्थानीयता –रायपुर, छत्तीसगढ़

माप- ऊँचाई – 56 सेमी, गोलाई – 193 सेमी
श्रेणी –
ए’

OBJECT OF THE WEEK-56
(14th to 20th June, 2021)

Due to spread of COVID-19 pandemic the museums throughout the world are closed but identifying different innovative ways to remain connected to their visitors. Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya (National Museum of Mankind) has also taken up many new initiatives to face the challenges posed by this pandemic. In one such step it is coming up with a new series entitled ‘Object of the Week’ to showcase its collection from all over India. Initially this series will focus on the masterpieces from its collection which are considered as unique for their contribution to the cultural history of a particular ethnic group or area. These masterpieces belong to the “AA” & “A” category. There are 64 objects in these categories.

KATLI, a large metal Vessel

Katli is a large metal utensil used among the Kamar tribe of Chhattisgarh. Kamars are known to be traditional iron workers. The neighbouring tribes and communities entirely dependent upon the Kamars for agricultural tools and other house hold implements. This particular vessel Katli, an important item is made as well as utilized by the Kamars. It has a round body, tapering shoulder and narrow mouth. It is made of alloy by hammering metal plates into circular fashion. Such large vessels are mainly used in community feast for ceremonial cooking during Navakhai festival or new grain eating.

Acc. No. – 89.94
Local Name  –  KATLI, a large metal Vessel
Tribe/Community – Kamar

Locality   –  Raipur, Chhattisgarh
Measurement : Max Height  56 cms., Max Circumference 193 cms.
Category –   ‘A’

#katli #metalvessel #kamar #communityfeast #navakhai #raipur #chhattisgarh  #igrms #museumfromhome #objectoftheweek #ethnograhicobject #museumobject #museumofman #museumofmankind #museumofhumankind  #experienceigrms #igrmsstories #staysafe #covid19