12 से 18 जुलाई, 2021 तक / 12th to 18th July, 2021

‘सप्ताह का प्रादर्श-60’
(12 से 18 जुलाई, 2021 तक)

कोविड-19 महामारी के प्रसार के कारण दुनिया भर के संग्रहालय बंद है लेकिन यह सभी अपने दर्शकों के साथ निरंतर रूप से जुड़े रहने के लिए विभिन्न अभिनव तरीके अपना रहे हैं। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय ने भी इस महामारी द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियो का सामना करने के लिए कई अभिनव प्रयास प्रारंभ किए है। अपने एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत मानव संग्रहालय ‘सप्ताह का प्रादर्श’ नामक एक नवीन श्रृंखला प्रस्तुत कर रहा है। पूरे भारत से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए संग्रहालय इस श्रंखला के प्रारंभ में अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। यह अति उत्कृष्ट कृतियां संग्रहालय के ‘AA’और ‘A’ वर्गों से संबंधित हैं। इन वर्गों में कुल 64 प्रादर्श हैं।

डागिसा
ढक्कन के साथ तांबे का बड़ा पात्र

डगीसा आंध्र प्रदेश के लोक समुदायों मैं प्रयोग किया जाने वाला तांबे का एक बड़ा पात्र है। डगीसा का वृहद आकार स्पष्ट रूप से इसके समारोहों और उत्सवों में उपयोग को  दर्शाता है। तांबे की मोटी चादर से बने इस पात्र को चिकना और गोल आकार देने के लिए सावधानीपूर्वक हथौड़े के प्रहार किये जाते हैं। पात्र का आधार फैलाव लिए हुए हैं, गोलाकार मुख्य हिस्सा ऊपर की ओर क्रमशः गर्दन का रूप लेता है। मजबूती प्रदान करने के लिए किनारे को चौड़ा और मोटा रखा गया है। पात्र के मुंह को ढक्कन से ढंका गया है। तांबा धातु अत्यधिक सुचालक होती है अतः तापमान का सावधानीपूर्वक नियंत्रण आवश्यक होता है। तांबे के पात्र में भोजन पकाने के अपने स्वास्थ्य लाभ हैं। तांबे के पात्रों का उपयोग समारोहों और उत्सवों की दावतों में भोजन पकाने के लिए किया जाता है जिसमें समुदाय समग्र रूप से सम्मिलित होते हैैं। इस तरह के बड़े पात्र सामान्यतः सामुदायिक संपत्ति होते हैं और गांव के सामुदायिक आवासों में रखे जाते हैं।

आरोहण क्रमांक – 97.386 ए, बी
स्थानीय नाम – डागिसा , ढक्कन के साथ तांबे का बड़ा पात्र ।
समुदाय – लोक
स्थानीयता –प्रकासम, आंध्र प्रदेश

माप – ऊंचाई – 61 सेमी, बर्तन के मुंह का व्यास – 68 सेमी, गोलाई – 306 सेमी
श्रेणी –
ए’

OBJECT OF THE WEEK-60
(12th to 18th July, 2021)

Due to spread of COVID-19 pandemic the museums throughout the world are closed but identifying different innovative ways to remain connected to their visitors. Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya (National Museum of Mankind) has also taken up many new initiatives to face the challenges posed by this pandemic. In one such step it is coming up with a new series entitled ‘Object of the Week’ to showcase its collection from all over India. Initially this series will focus on the masterpieces from its collection which are considered as unique for their contribution to the cultural history of a particular ethnic group or area. These masterpieces belong to the “AA” & “A” category. There are 64 objects in these categories.

DAGISA
Big Copper Vessel with Lid

Dagisa, is a large copper vessel used among the folk communities of Andhra Pradesh. Large size and dimension of Dagisa clearly speaks of its ceremonial and festive utility. The utensil is made of thick copper sheet which is carefully hammered to give smooth round shape. The vessel has a flaring base, round body gradually tapers to form the neck. It has a wide and thick rim for support. The mouth is covered with a lid.  Copper metal is highly conductive, which allows for very careful control of temperature. Cooking in copper vessels has health advantages. Copper vessels  are used during cooking for ceremonial and festive feasts which involved community as a whole. These kind of large vessels are generally community property and kept in community houses of the village.

Acc. No. – 97.386 A,B
Local Name  – 
 DAGISA , Big Copper Vessel with Lid
Tribe/Community – Folk

Locality   –  Prakasam, Andhra Pradesh
Measurement – Height –  61 cm., Diameter of mouth–  68  cm., Circumference –  306 cm.
Category –   ‘A’

#dagisa #bigcoppervessel #vesselforcommunityfeast #metalwork #folk #prakasam #andhrapradesh #igrms #museumfromhome #objectoftheweek #ethnograhicobject #museumobject #museumofman #museumofmankind #museumofhumankind  #experienceigrms #igrmsstories #staysafe #covid19