भद्रकाली अम्बलम – Bhadrakali Ambalam

भद्रकाली अम्बलम

भद्रकाली आदि पराशक्ति का रौद्ररूप है, जिन्हें दक्षिण भारत में और विशेष रूप से केरल राज्य में विभिन्न नामों से पूजा जाता है। मछुआरों के एक गांव आराटगुड़ा जिला एलाप्पुझा, केरल के एक छोर पर स्थित काष्ठ देवालय को यहां प्रतिरूपित किया गया है। इसके अहाते में पुजारियों के लिए स्थान तथा सामने की ओर देवताओं के लिये दीप स्तम्भ और धार्मिक नृत्यों के लिए स्थान है। मंदिर परिसर में स्वयंवर पार्वती पूजा, गृहलक्ष्मी पूजा, ग्रहदोष निवारण पूजा, बलिथूवल, सर्पबली, कलामकवल, डिक्कुबली, परनेट्टु, निलथिलपोरु, आराट्टू और पोंगल जैसे कई त्योहार मनाये जाते हैं।

Bhadrakali Ambalam

Bhadrakali is one of the fierce form of great goddess worshipped in south India and specially in the state of Kerala by deferent names.  A wooden temple from Aratguda village, Alappuzha district of Kerala is replicated in this exhibition. In its span it has room for worshippers, a space for religious dance and lamp post for gods. There are many festivals celebrated within the temple such as Swayamvara Parvathi puja, Grahalakshmi puja, Grahadosha Nivarana puja, Balithooval, Sarppabali, Kalamkaval, Dikkubali, Paranettu, Nilathilporu, Aaraattu and Pongala.