मखाना बनाने की प्रक्रिया – Processing of Makhana

“मखाना बनाने की प्रक्रिया”

(मखाना तैयार करने की तकनीक/उपकरण)

समुदाय : मल्लाह

ग्राम : नटोल

जिला : मधुबनी

राज्य : बिहार

बिहार राज्य मखाना उत्पादन के लिये जाना जाता है। पारम्परिक रूप से मखाना तैयार करने का कार्य मुख्यतः दरभंगा, सीतामढ़ी, पूर्णिया और कटिहार आदि जिलों में किया जाता है। स्थानीय तौर पर गुड़ीनाम से प्रचलित मखाना बीज एक जलीय उत्पाद है, जो झीलों, तालाबों और नम स्थानों पर उपजाया जाता है। झीलों और तालाबों से गुड़ीप्राप्त करने के बाद इसे धूप में सुखाया जाता है। मखाना प्राप्त करने के लिये सूखे हुऐ गुड़ीबीजों को लोहिया (लोहे की कड़ाही) में भुना जाता है। भुने हुए गर्म बीजों को लकड़ी के लॉग पर रखकर लकड़ी के ही सपाट हथौड़े से कूटा जाता है।

इस प्रक्रिया में बांस की विभिन्न आकार व प्रकार की टोकरियों के साथ अन्य पारम्परिक उपकरणों का उपयोग किया जाता है। गाँज(शंक्वाकार टोकरी) को झीलों व तालाबों से बीजों को निकालते समय, आका (बेलनाकार टोकरी) को बीजों को संधारित करने में व डेली(बेलनाकार टोकरी) को मखाना से छिलका हटाने में उपयोग किया जाता है। लोहिया(लोहे की कड़ाही) का सूखे बीजों को गर्म करने में, ‘पिटना(लकड़ी का सपाट हथौड़ा) का गर्म बीजों को पिरकट(लकड़ी लॉग) पर पीटने में, ‘लखरिया(कछुऐ का खोल) का उपयोग बीजों को गर्म करते समय चम्मच के रूप में एवं चलनीका उपयोग विभिन्न आकार अनुसार मखाना उत्पाद को छांटने में किया जाता है।

Processing of Makhana

(Makhana preparing technique/device)

Community: Mallah

Village: Nabtol

District: Madhubani

State: Bihar

The state of Bihar is well known for production of ‘Makhana’. Traditionally the works related to preparation of ‘Makhana’ is carried out in Darbhanga, Sitamarhi, Purnia and Katihar District of Bihar.  The seed of ‘Makhana’, popularly known as ‘Gudi’ is a aquatic plant product cultivated in lakes, ponds and moist lands. After collection the ‘Gudi’ is dried in the sunlight. Dried ‘Gudi’ seeds are then roasted in ‘Lohiya’ (Iron pan). The roasted hot seeds are then kept on a wooden log and beaten with a flat wooden hammer to prepare ‘Makhana’.

 A variety of traditional equipments and bamboo baskets of different shapes and sizes are used in this process. Ganj (Conical basket) is used for extracting the seeds from the water body, ‘Aaka’ (Cylindrical basket) is used for keeping the seeds and ‘Delee’ (cylindrical basket) is used to remove the peels of ‘Makhana’. ‘Lohiya’ (Iron Cauldron) is used to heat the dried seeds, ‘Pitna’ (Flat wooden hammer) is used as a hammer for beating the hot seeds on ‘Pirkat’ (wooden log), ‘Lakhraiya’ (Turtle shell) is used as a spoon during heating process of seeds, and a sieve is used as a filter to distribute the ‘Makhana’ product according to their different sizes.