हिदाक शुंगफम-Hidak Shungpham

‘‘हिदाक शुंगफम‘‘

(स्थानीय पेय तैयार करने का एक उपकरण)

समुदाय : मैतेई

क्षेत्र- अंदरो

जिला: पूर्वी इम्फाल

राज्य: मणिपुर

      पारम्परिक कुम्हारी कला के अतिरिक्त मणिपुर की महिलाऐं स्थानीय पेय (हिदाक) बनाने में भी निपुण हैं जो घरेलू उपयोग के अतिरिक्त अनुष्ठानिक महत्वों तथा औषधियों के रूप में हिदक का प्रयोग किया जाता है। स्थानीय चावल के खमीर से अर्क निकालकर यह पेय तैयार किया जाता है। स्थानीय पेय तैयार करने की इस आसवन प्रक्रिया में मिट्टी के चार प्रकार के घड़े एवं बांस की नलियों को इस प्रकार संयोजित किया जाता है कि खमीरीकृत चावलों से हिदाक वाष्पीकृत होता है एवं आसवन की इस प्रक्रिया से शुद्ध हिदाक प्राप्त होता है। स्‍थानीय बुजुर्ग महिलाऐं जोड़ों के दर्द एवं त्‍वचा संबंधी संक्रमण में राहत के लिये शुद्ध यू का उपयोग करती हैं। 

“Hidak Shungpham”

(A device for distilling local brew)

Community: Meitei

Area: Andro

District: Imphal East

State: Manipur

A part from the traditional pottery, women of Andro in Manipur also engage in preparing Hidak (Yu) local drink for domestic consumption and also to meet the requirements for ritual and medicinal usages. They obtain the Hidak (Drink) through the process of distillation by fermenting the boiled rice produced from local paddy. The device used in the distillation process of the local drink are the clay pots and bamboo tube that are assembled in a way that evaporation of the Hidak is done with fermented rice and fine extract is obtained the process of distillation. The local old women use the pure Yu to apply on skin and joints for a relief from pain and skin infection.